शिक्षक के घर बेटी को ऐसी हालत में देख, घरवालों की निकल गई चीख !

0

यूँ तो आये दिन लड़कियों और छात्राओं के साथ बदसलूकी और बलात्कार की कई वारदाते सामने आती रहती है, पर आज जो खबर हम आपको बताने वाले है, उसे जान कर आप भी दंग रह जायेंगे. जी हां आज जिस वारदात के बारे में हम आपको बताने वाले है, उसमे गुनहगार कोई और नहीं बल्कि एक शिक्षक है. बता दे कि जिस छात्रा के बारे में हम बात कर रहे है वो उत्तरकाशी जनपद के सुदूरवर्ती मोरी ब्लॉक के एक राजकीय जूनियर हाई स्कूल में पढ़ती है और इसी स्कूल के एक अध्यापक ललित कुमार के पास ट्यूशन पढ़ने भी जाती थी.

गौरतलब है, कि वीरवार के दिन जब ये छात्रा ट्यूशन पढ़ने गई, तो काफी देर रात तक घर वापिस नहीं लौटी. बता दे कि ये छात्रा नौवीं कक्षा में पढ़ती है. बरहलाल बेटी के देर रात तक घर वापिस न लौटने पर माता पिता को चिंता होने लगी. जिसके चलते लड़की के परिजन उस अध्यापक के घर जा पहुंचे. हालांकि पहले तो उस अध्यापक ने ये कहा कि छात्रा वहां नहीं है. मगर लड़की के माता पिता को अध्यापक पर यकीन नहीं था. ऐसे में जब उन्होंने अध्यापक के घर के अंदर देखा तो छात्रा अध्यापक के बेड के नीचे डरी हुई बैठी थी.

बरहलाल अपनी बेटी को इस स्थिति में देख घरवालों ने जब उससे घर न आने का कारण पूछा तो उसने अध्यापक पर बलात्कार करने का आरोप लगाया. जिसके चलते लड़की के घरवाले उसे लेकर थाने पहुँच गए और उस शिक्षक के खिलाफ एफआरआई दर्ज करवाई. वही मोरी थाना पुलिस ने भी पोक्सो के तहत केस दर्ज करते हुए उस शिक्षक को गिरफ्तार कर लिया.

इसके इलावा सीओ कोहली ने बताया कि पुलिस ने नाबालिग छात्रा का ब्यान दर्ज करके उसे मेडिकल जांच के लिए भेज दिया. इसके साथ ही उस आरोपी अध्यापक को भी कोर्ट में पेश किया जाएगा. इस बारे में गांव के प्रधान जगमोहन सिंह ने बताया कि आरोपी शिक्षक फ़िलहाल अविवाहित है और रुड़की का रहने वाला है. इसके साथ ही उन्होंने बताया कि वो डेढ़ साल से मोरी में रह रहा है. बरहलाल इस घटना के बाद ये कहना गलत होगा कि अध्यापक या शिक्षक गुरु के समान होते है.