ये है दुनिया के खतरनाक गेम्स, खिलाड़ी करता है सुसाइड या लेता है जान

0

ग्रेटर नोएडा के एक घर में एक महिला और उनकी बेटी की हत्या हो गई है. पुलिस के मुताबिक, हत्या का आरोपी महिला का 16 साल का नाबालिक बेटा है. पुलिस ने कहा है कि आरोपी लड़के ने शायद ऑनलाइन गेम ‘गैंगस्टर इन हाई स्कूल’ के प्रभाव में आकर घटना को अंजाम दिया. पुलिस ने कहा कि वह ऑनलाइन गेम की लत का शिकार था. आपको बता दें कि कुछ वक्त पहले ब्लू व्हेल गेम भी चर्चा में आया था और इसकी वजह से कई लोगों की जान चली गई थी. इंटरनेट पर ऐसे और भी कई गेम हैं जो लोगों को मौत के पास ले जा सकते हैं. आज हम आपको ऐसे ही कुछ गेम्स के बारे में बता रहे हैं…. हालांकि, हमारा इरादा इन गेम्स को प्रमोट करना नहीं है, बल्कि आपको अवेयर करना है. अगर आपका बच्चा भी ऐसे किसी खतरनाक गेम को खेलता है तो आपको सचेत हो जाने की जरूरत है….

गैंगस्टर इन हाई स्कूल- गूगल प्ले स्टोर पर इस गेम्स को खेलने की उम्र 16+ बताई गई है. साथ में चेतावनी दी गई है कि इस खेल में काफी हिंसा भरी हुई है. इस गेम के बारे में बताया गया है कि यह कोई रोमांटिंग गेम नहीं है. इस गेम का कैरेक्टर बॉबी अपने दोस्तों को मारता है, टीचर्स पर वार करता है और पुलिस से भी लड़कर जीत जाता है.

द पास आउट चैलेंज- इसमें एक शख्स दूसरे का गला दबाता है. ताकि वह हाई फील कर सके. हालांकि, इस गेम में गला घुटने से मौत भी हो जाती है.

 

 

गैंगस्टर इन हाई स्कूल में जो कैरेक्टर है वह सिक्योरिटी गार्ड और लड़कों के ग्रुप्स से लड़ाई करता है. वह कई लोगों को मार भी डालता है

 

.

‘ब्लू व्हेल गेम’ या ‘द ब्लू व्हेल चैलेंज’ नाम के खेल में एक एडमिन होता है, जो खेलने वाले को अगले 50 दिन तक बताते रहता है कि उसे आगे क्या करना है. खेल के आखिरी दिन खेलने वाले को खुदकुशी करनी होती है और उससे पहले एक सेल्फी लेकर अपलोड करनी होती है. इस गेम की एक शर्त होती है कि एक बार शुरू करने के बाद कोई पीछे नहीं हट सकता. अगर कोई शख्स इस गेम को ठीक से नहीं खेलता या झूठ बोलता है तो उसे उसी वक्त बाहर कर दिया जाता है.

साल्ट एंड आइस चैलेंज- इस गेम में टीनेजर अपनी स्किन पर नमक रखते हैं और फिर उसके ऊपर बर्फ. नमक की वजह से बर्फ का टेम्परेचर बहुत कम हो जाता है और स्किन में बर्न्स हो जाते हैं. कई बार टीनेजर खुद को दर्द देने के पूरे घटनाक्रम को रिकॉर्ड भी करते हैं.

द कटिंग चैलेंज- इस गेम में खुद को घायल करना होता है और उसकी तस्वीर ऑनलाइन पोस्ट करना होता है. गेम खेलने वाले को लगता है कि ग्रुप में उसकी पहचान बन रही है.